मंगलवार, 26 जनवरी 2010

गणतंत्र दिवस

गणतंत्र दिवस के पावन अवसर पर इस संकल्प के साथ .....

हमारी दोस्ती, 'खुदा' बन जाए, है इच्छा
अब खुशबू अमन की, 'खुदा' ही बाँट सकता है ।

.....हार्दिक .....हार्दिक .......हार्दिक शुभकामनाएं ।

2 टिप्‍पणियां:

Udan Tashtari ने कहा…

गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएँ.

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि-
आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार के चर्चा मंच पर भी होगी!
सूचनार्थ...!

Table Of Contents