गुरुवार, 6 मई 2010

छत्तीसगढ़ के लोगों का नक्सल समर्थकों के विरुद्ध विरोध प्रदर्शन-केयूर भूषण जी अब तक कहाँ थे

जब तथाकथित मानवाधिकारवादी छुप के बैठ गए तो गांधीवादियों के रूप में नामचीन हस्तियों का छत्तीसगढ़ की जमीन पर आगमन हुआ शांति यात्रा के लिए . जब तक सरकार चुप थी तो तब तक सब शांत था . सरकार ने कदम उठाने शुरू किए तो इनकी भी नींद में खलल पड़ा और कूच कर गए अपने एसी कमरों को छोड़ कर हवा मे  उड़ते हुए छत्तीसगढ़ की ओर .
उम्मीद नहीं होगी की दिग्विजयसिंग के प्रलाप के बाद काँग्रेस के लोग भी विरोध करेंगे , बीजेपी की तो उम्मीद  थी .
मोर्चा सम्हाले थे श्री केयूर भूषण , स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और पूर्वे संसद . कहाँ सो रहे थे केयूर जी अब तक? और ऐसा कैस तैश गांधीवादी का जो चप्पल निकालके लोगों को दिखा रहे थे . गांधीजी का सिद्धांत तो कुछ और था की दूसरा गाल आगे कर दो . ऐसा क्या कर दिया शहर के बच्चों  ने .


आप भी देखिये खबर :



सौजन्य : नवभारत , रायपुर

Table Of Contents